मोदी जी के इन 3 फैसले बचाएंगे लोगो को और उनकी ज़िन्दगी को।

0
59

पिछले दिनों केंद्र की मोदी जी की सरकार ने कहा की कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने में भारत सफल रहा है। उन्होंने इसके लये कई आंकड़े दिखाए। और तब सरकार ने अपने ३ फैसले भी बताये जो बहुत ही महत्वपूर्ण थे। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन और अंतर राष्ट्रीय फ्लाइट्स पर पाबंदी लगायी, और टेस्टिंग के अलावा उनको क्वारंटाइन करने का भी फैसला किया। पूरा लेख पढ़े और जाने कि कोनसे यह तीन फैसले थे? और यह फैसले कितने ज्यादा महत्वपूर्ण थे और इससे हम सब को फायदा हुआ या नहीं?

यह तीन फैसले थे – 

  1. लॉकडाउन सभी जगह – यानी पुरे भारत में।
  2. अन्तर राष्ट्रीय फ्लाइट्स पर पाबन्दी लगाना।
  3. जो आशंका जनक व्यक्ति उनको क्वारंटाइन करना।

यह तीन फैसले सरकार के बहुत ही सही और फायदेमंद साबित हुए। वरना जो आज २३ हज़ार कोरोना पीड़ित लोगो कि जगह ८० हज़ार लोग अस्वस्थ होते। कोरोना वायरस को लेकर देश के ११ में से २ ग्रुप के अधिकारियो ने कहा भारत के कदम सफलता कि और बढ़ रहे है और आगे भी इसका परिणाम अच्छा ही रहेगा।

कमिटी के चेयरमैन ने यह भी कहा था –

२१ मार्च को देश में ३०० कोरोना पॉजिटिव पीड़ित थे, इसका डॉबलिंग रेट तीन दिन का था। और इसके बाद तुरंत जनता कर्फ्यू किया गया और २३ मार्च के बाद परिस्थिति बदल गयी। डॉब्लिन रेट ५ दिन हो गया था और ६ अप्रैल के बाद यह १० दिन होगया था। यह सब लॉकडाउन का कमाल था।

यह लॉकडाउन ने भारत के लोगो कि ज़िन्दगी इस तरह बचाने का काम किया है। एक डॉक्टर ने कहा – 

“हमारा विश्लेषण बताता है कि यह लॉकडाउन कि वजह से ही कोरोना वायरस कि ज्यादा संख्या बढ़ी नहीं वरना यह संख्या दोगुना हो जाता है। और ऐसे कई लोगो कि ज़िन्दगी अब तक बची हुई है।”

लॉकडाउन का फैसला अगर समय पर नहीं लगाया होता तो अब तक जो २३ हज़ार पर कोरोना के मामले है आज उसकी संख्या ८० हज़ार होती। 

आज भारत में २३ हज़ार से भी ज्यादा कोरोना के मामले है।

भारत में कोरोना कि महामारी के मामले २३ हज़ार से भी अधिक सामने आये है। स्वस्थ्य मंत्रालय ने कहा था कि कोरोना कि ७२३ से अधिक मृत्यु हो चुकी है और वर्तमान में कुल २३ हज़ार से अधिक मामले दर्ज किये गए है। 

और हर रोज़ २४ घंटे में कोरोना के १ हज़ार से भी ज्यादा मामले दर्ज होते और जिससे यह साबित हुआ है कि इस महामारी में कुल २ फीसदी मृत्यु अंक है। तो यह है वह ३ फैसले जो सरकार ने किये और जो वास्तविकता में सही थे और फायदेमंद माने गए है। आज भारत में यह महामारी काफी कण्ट्रोल में है।

सतर्क रहिये, घर में रहिये सुरक्षित रहिये।

READ  मस्सों से छुटकारा पाने के लिए क्या करे? क्या खाए और क्या नहीं?