Heart attack क्या है, प्रकार, लक्षण, कारण, और कैसे करें जड़ से इलाज़?

0
116

Heart attack की समस्या का सामना आज के युवा भी कर रहे है। बदलती जीवनशैली के चलते तनाव और कई अन्य कारणों का परिणाम अब बन चूका है – Heart attack। आज लोग अपने काम में व्यस्त होने के कारण अपनी सेहत का खयाल नहीं रखते है। इसलिए तो आज के समय में यह इतनी खतरनाक समस्या अब आम समस्या बन चुकी है। हार्ट अटैक का दूसरा नाम myocardial infarction or MI यह भी है, जो बहुत कम लोग जानते है।

कितने तरह के होते है, हार्ट अटैक?

Heart attack ke wajah

हार्ट अटैक मुख्य तीन तरह के होते है –

  • STEMI
  • Coronary artery spasm
  • NSTEMI

चलिए अब हम जानेंगे की Heart attack क्या होता है?

दिल का दौरा तब पड़ता है, जब हृदय तक रक्त का प्रवाह अवरुद्ध हो जाता है।समय के साथ, एक coronary artery cholesterol (atherosclerosis) सहित विभिन्न पदार्थों के निर्माण से संकीर्ण हो सकती है।

 बाधित रक्त प्रवाह हृदय की मांसपेशीयों के हिस्से को नुकसान पहुंचा सकता है या नष्ट कर सकता है।

आइए अब जानते है, Heart attack आने के कारण।

heart attack wajah

दिल के दौरे का अन्य कारण coronary artery की ऐंठन है जो हृदय की मांसपेशियों के भाग में रक्त के प्रवाह को बंद कर देता है। 

तंबाकू

इसमें धूम्रपान और second hand smoke के लिए लंबी अवधि का जोखिम शामिल है।

उच्च रक्तचाप

समय के साथ, उच्च रक्तचाप आपके दिल को खिलाने वाली धमनियों (Artries that feed your heart) को नुकसान पहुंचा सकता है। उच्च रक्तचाप जो अन्य स्थितियों के साथ होता है, जैसे मोटापा, उच्च कोलेस्ट्रॉल या मधुमेह, आपके जोखिम को और भी अधिक बढ़ा देता है।

मोटापा

मोटापा high blood cholesterol levels, high triglyceride levels, उच्च रक्तचाप और मधुमेह के साथ जुड़ा हुआ है। हालांकि, आपके शरीर के वजन का सिर्फ 10 प्रतिशत खाना इस जोखिम को कम कर सकता है।

मधुमेह (Diabetes) –

आपके अग्न्याशय (Insulin) द्वारा स्रावित एक हार्मोन का पर्याप्त उत्पादन नहीं करता। कई बार आपके शरीर के रक्त शर्करा के स्तर में वृद्धि का कारण बनता है। जिससे आपके दिल का दौरा पड़ने का खतरा बढ़ जाता है।

उपापचयी लक्षण (Metabolic syndrome)

यह तब होता है जब आपको मोटापा, उच्च रक्तचाप और उच्च रक्त शर्करा होता है। Metabolic syndrome होने से आपको दिल की बीमारी होने की संभावना दोगुनी हो जाती है कुछ बार।

हार्ट अटैक का पारिवारिक इतिहास (Family history of Heart attack)

यदि आपके भाई-बहन, माता-पिता याँ दादा-दादी को दिल का दौरा पड़ा है, तो आपका जोखिम बढ़ सकता है।

शारीरिक गतिविधि का अभाव (Lack of physical activity)-

निष्क्रिय होना उच्च रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर और मोटापे का कारण होता है। जो लोग नियमित रूप से व्यायाम करते है, उनके हृदय की fitness बेहतर होती है, जिसमें निम्न रक्तचाप भी शामिल है।

अवैध दवा का उपयोग –

अवैध दवाओं का उपयोग करना, जैसे cocaine याँ आपकी coronary artery के ऐंठन को ट्रिगर कर सकता है। जो दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकता है।

Heart Attack के अन्य कुछ और जोखिम कारण शामिल है – 

take care of your heart

  • यदि, आप कहीं बहार से आने के बाद तुरंत पानी पीते है, तो भी Heart attack की समस्या उत्पन हो सकती है।
  • अधिक मानसिक तनाव।
  • खानपान में लापरवाही, याँ junk food का अधिक सेवन करना।
  • ब्लड प्रेशर का संतुलित नहीं रहना।
  • Diabetes कंट्रोल में ना होना।

अब जानते है, Heart attack आने के क्या-क्या लक्षण है?

इन लक्षणों को अनदेखा करना ठीक नहीं है।

सिर घूमना।

यह समस्या हार्ट अटैक के लक्षण में से एक है। हृदय को जाने वाली एक शिरा में अवरोध है – सिर घूमना। खास कर किसी महिला को यह समस्या हो तो उन्हें अधिक सावधान होना चाहिए। इसके लक्षण अक्सर मामूली ही होते है, जिसे लोग नज़रअंदाज़ कर देते है जिसका परिणाम हार्ट अटैक होता है।

दर्द होना सीने में (chest pain)।

यह लक्षण का।अनुभव अक्सर लोग करते है, इस समस्या का सामना करने से पहले। किन्तु, हर बार यह लक्षण नज़र आए ऐसा ज़रूरी नहीं।

जबड़े में दर्द का अर्थ हो सकता है – हार्ट अटैक।

दांतो में समस्या याँ जबड़े में दर्द हो तो यह हार्ट अटैक का लक्षण हो सकता है। यदि, आपको अधिक दर्द हो तो यह समस्या और भी बढ़ सकती है। इसीलिए डॉक्टर को अवश्य दिखाएँ। 

सांस लेने में दिक्कत।

लगभग 40% जितनी महिलाओं में यह लक्षण दिखाई देते है, heart attack से पहले। यह लक्षण महिलाओं में ज़्यादा पाया जाता है, पुरुषों की तुलना में। किन्तु, महिलाओं में इसके साथ सीने में दर्द हो यह ज़रूरी नहीं है।

दर्द होना।

दर्द वाले क्षेत्र – छाती, जबड़े, बाएँ हाथ या ऊपरी पेट के बीच के क्षेत्र में।

क्या आप जानते है बारिश है आपके लिए फायदेमंद?

READ  Dance Therapy करने से आप रहेंगे स्वस्थ एवं खुश!

अन्य कुछ और लक्षण हार्ट अटैक के।

  • कई बार उल्टी होना, याँ फिर जी मचलना भी इस समस्या के लक्षण होते है।
  • अधिक पसीना आना। यदि, आप ऐसी परिस्थिति में नहीं है जहां आपको पसीना आएँ तो भी आपको पसीना आ रहा हो तो आपको अधिक ध्यान रखना चाहिए। 
  • भूख ना लगाना।

Heart Attack का निवारण (prevention)।

“दिल के दौरे को रोकने का सबसे अच्छा तरीका स्वस्थ जीवनशैली है”। 

स्वस्थ रहने के उपायों में निम्नलिखित शामिल हैं –

  • धूम्रपान नहीं करें।
  • संतुलित, स्वास्थ्यवर्धक आहार खाएँ।
  • खूब व्यायाम करें।
  • भरपूर मात्रा में अच्छी नींद लेना।
  • मधुमेह को नियंत्रण में रखना।
  • शराब का सेवन कम रखें।
  • वजन को नियंत्रित रखें।
  • तनाव कम लें।
  • Junk food ना खाएँ।

यह लोगों को दिल का दौरा पड़ने के चेतावनी संकेतों के बारे में अधिक जानने के लिए सहायक हो सकता है।

आप बड़ी से बड़ी बीमारी से भी जीत सकते है। यदि, आप सकारात्मक विचार रखें।

Heart Attack का इलाज!

  • ईसीजी (ECG)  याँ इलेक्ट्रोकार्डियोग्राफ़ (Electrocardiograph)।
  • कार्डियक एँजाइम टेस्ट ( Cardiac enzymes test)।
  • छाती का X-ray।

यह एक शोध से पता चला है, की heart attack की समस्या से हर साल लगभग 10 million लोग पीड़ित होते है। किन्तु, यह भी सत्य है, की इस बीमारी के सामने लाखों लोगों की जीत भी हुई है।

क्या-क्या खाना चाहिए?

  • टमाटर
  • अदरक
  • राजमा
  • अलसी
  • सेब , रोटी आदि

किन्तु, हो सके उतना आराम करें और डॉक्टर की सलाह लें। धूम्रपान, शराब जैसी चीज़ों का त्याग करें।

हम आशा करते है, की आपके लिए यह लेख Informative होगा। 

कृप्या, किसी भी चीज़ को अपनाने से पहले डॉक्टर की सलाह अवश्य लें और ऊपर लिखित लक्षण को देख कर घबराइए गा नहीं बस ध्यान रखें।